जीएसटी के बाद भी हाइब्रिड वाहनों को बेचना जारी रखेगा मारूति सुजुकी

Written By:

भारत सरकार ने 1 जुलाई, 2017 से वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) को लागू किया है। जिसकी हाई दरों के कारण ऑटो उद्योग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। लेकिन भारत की अग्रणी ऑटोनिर्माता मारुति सुजुकी ने कहा है कि वह अपने हाइब्रिड वाहनों को बेचना जारी रखेगा।

जीएसटी के बाद भी हाइब्रिड वाहनों को बेचना जारी रखेगा मारूति सुजुकी

वर्तमान में, मारुति सुजुकी हल्के हाइब्रिड प्रौद्योगिकी के साथ सेज सेडान और एर्टिगा एमपीवी को बेचा करती है। जीएसटी के कारण, इन मॉडलों की कीमतों में 1 लाख रुपये तक की बढ़ोतरी हुई है।

जीएसटी के बाद भी हाइब्रिड वाहनों को बेचना जारी रखेगा मारूति सुजुकी

जीएसटी के तहत, हाइब्रिड वाहन एक ही टैक्स स्लैब के तहत लक्जरी कारों के रूप में आते हैं पर्यावरण-अनुकूल वाहनों पर 28 प्रतिशत कर और 15 प्रतिशत उपकर लगाया गया है। कुल कर की दर 43 प्रतिशत है, जो पिछले 30.3 प्रतिशत की दर से अधिक है।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

मारुति सुजूकी उम्मीद कर रही है कि सरकार हाइब्रिड वाहनों पर कर दरों पर पुनर्विचार कर सकती है। पारंपरिक वाहनों के समान ही श्रेणी में हाइब्रिड वाहनों के साथ रखना देश में पर्यावरण के अनूकुल वाहनों के निर्माण को हतोत्साहित करने जैसा है।

English summary
The Government of India has implemented the Goods And Service Tax (GST) from July 1, 2017. The new tax regime has adversely impacted the eco-friendly vehicle due to high tax rates.
Story first published: Tuesday, July 11, 2017, 11:01 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos