फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

By Deepak Pandey

अभी हाल ही में फॉक्सवैगन डीजलगेट कांड पर फैसला आया है जिसमें एक इंजीनियर को सजा हुई है। लेकिन इस सजा से पहले फॉक्सवैगन के साथ-साथ ऑटो जगत की जो फजीहत हुई। वह काफी चर्चित मुद्दा रहा है।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

जहां अभी यह मुद्दा खतम भी नहीं हुआ था कि एक और इसी तरह के मुद्दे से सनसनी मच गई है और यह मामला किसी छोड़ी कम्पनी नहीं बल्कि टोयोटा और निसान जैसी बड़ी कम्पनियों से जुड़ा है। ताजा मामले के कारण अब टोयोटा और निसान जैसी बड़ी कार कंपनियों पर अब सवाल खड़े हो रहे हैं।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

खबरों के मुताबिक जापान ही की कंपनी Kobe Steel पर इन दोनों कंपनियों को खराब धातु सप्लाई करने के आरोप लगे हैं। एक ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कोबे स्टील ने निसान और टोयोटा की कारों में इस्तेमाल होने वाले जिस एल्यूमीनियम और कॉपर प्रोडक्ट की सप्लाई की है उसकी मजबूती और टिकाऊपन के बारे में गलत डेटा पेश किया।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

जहां अब दोनों जापानी ऑटोकम्पनियां यह पता लगाने में जुट गई है कि इससे कार की सेफ्टी पर कितना फर्क पड़ा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह समस्या केवल यहीं आकर खत्म नहीं हो जाती है। बताया जा रहा है कि खराब धातु का इस्तेमाल एयरक्राफ्ट और स्पेस रॉकेट में भी किया गया है।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

लिहाजा कार के मुकाबले एयरक्राफ्ट में खराब धातु के इस्तेमाल के कारण भीषण परिणाम सामने आ सकते हैं। इस ऑनलाइन रिपोर्ट्स के माध्यम से कोबे स्टील ने खुद यह बात स्वीकार की है कि सितंबर 2016 से अगस्त 2017 के बीच एल्यूमीनियम और कॉपर को गलत जानकारी वाले लेबल के साथ बेचा गया।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

रिपोर्ट ने कहा है कि ऐसा ग्राहकों की बढ़ती मांग और सप्लाई को पूरा करने के लिए किया गया था। माना जा रहा है कि इस धातु का इस्तेमाल टोयोटा की कारों के बोनट, पिछले दरवाजों और अन्य जगहों पर किया गया। हालांकि ऐसे धातु वाली कारों का निर्माण अभी सिर्फ जापानी फैक्ट्री में ही हुआ था।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

आपको बता दें कि अभी दुनियाभर का ऑटोमोबाइल सेक्टर मुसीबत के दौर से गुजर रहा है। जर्मन ऑटोमेकर कंपनी Volkswagen के उत्सर्जन घोटाले और Takata एयरबैग्स में खामी वाले मामले से ऑटो जगत की काफी किरकिरी हुई है।

फॉक्सवैगन डीजलगेट के बाद अब इस स्कैंडल से ऑटो वर्ल्ड में मची सनसनी

फॉक्सवैगन ने तो वैश्विक स्तर पर अपनी गलती में सुधार के लिए 3 मिलियन कारों को रिकॉल किया लेकिन कई ऑटो एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह संख्य़ा इससे भी ज्यादा है। अब अगर यह नया आरोप वास्तव में सच साबित होता है तो ऑटो जगत के सामने उसकी विश्वसनियता सबसे बड़ा सवाल होगी।

Hindi
English summary
The Japanese company Kobe Steel has been accused of supplying bad metal to these two companies. Assuming an online media report, Kobe Steel presented incorrect data about the strength and durability of the aluminum and copper products supplied in Nissan and Toyota cars.
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more