Subscribe to DriveSpark

बिना ड्राइवर वाली फार्मूला वन रेस पर विचार कर रहा है एफआईए!

Written By:

अंतर्राष्ट्रीय ऑटोमोबाइल फेडरेशन (एफआईए) ने यह खुलासा किया है कि वह ऑटो तकनीक को बढ़ावा देने के लिए फॉर्मूला वन दौड़ के लिए एक ऑटो-ड्राइविंग सिक्योरिटी कार अपनाने पर विचार कर रही है। साथ ही एफआईए यह भी सुनिश्चित करने के लिए उत्सुक है कि ड्रायवर ही आगे भी फॉर्मूला वन के मुख्य आकर्षण बने रहे।

बिना ड्राइवर वाली फार्मूला वन रेस पर विचार कर रहा है एफआईए!

फेडरेशन ने कहा है कि दौड़ के अन्य तत्वों में कारहीन वाहनों को बढ़ावा देने पर विचार किया जा सकता है। दरअसल एफआईए के फॉर्मूला वन तकनीकी विभाग के प्रमुख, मार्सिन बुडकोस्की ने सुझाव दिया है कि एक ऑटो-ड्राइविंग सिक्योरिटी कार मोटर वाहन उद्योग में उन्नत तकनीक को बढ़ावा देने के बेहतर होगी।

बिना ड्राइवर वाली फार्मूला वन रेस पर विचार कर रहा है एफआईए!

बुडकोस्की ने यह भी कहा कि प्रशंसकों को ड्राइवर रहित फॉर्मूला वन श्रृंखला में दिलचस्पी नहीं होगी। लेकिन अन्य ड्राइवर-लेस रेसिंग सरीज जैसे रोबोरेस ऑटो तकनीक को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

बिना ड्राइवर वाली फार्मूला वन रेस पर विचार कर रहा है एफआईए!

रोबोरैस, 2016 में ऑल-इलेक्ट्रिक रेसिंग सीरीज के साथ टाई-अप के भाग के रूप में घोषित किए गए कारों के लिए दुनिया की पहली चैम्पियनशिप की घोषणा की गई थी। बुडकोस्की कहते हैं कि समान रणनीति फॉर्मूला वन में काम नहीं करेगी।

बिना ड्राइवर वाली फार्मूला वन रेस पर विचार कर रहा है एफआईए!

हालांकि, बुड्कोवस्की का मानना ​​है कि मोटरस्पोर्ट का इस्तेमाल लोगों को नई प्रौद्योगिकियों को बढ़ावा देने के लिए एक मंच के रूप में करने में विचार करना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि ऑटो ड्राइविंग तकनीक का सुरक्षा पर काफी प्रभाव पड़ेगा।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

ऑटो तकनीक को ही भविष्य की तकनीक माना जा रहा है। अब, एफआईए मोटरस्पोर्ट्स में ऑटो-ड्राइविंग टेक्नोलॉजी को बढ़ावा देने की योजना बना रही है। लेकिन एक ड्राइवरहीन एफ 1 श्रृंखला को प्रशंसकों द्वारा स्वीकार नहीं की जाएगा। यह रोबोरैस जैसी सीरीज के लिए बेहतर होगी।

English summary
The International Automobile Federation (FIA) has revealed that it is considering to adopt a self-driving safety car for Formula One races to promote the autonomous technology.
Story first published: Wednesday, August 23, 2017, 16:25 [IST]
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos