Subscribe to DriveSpark

यूरो एनसीएपी क्रैश टेस्ट में बुरी तरह फेल हुई फिएट पुंटो, वीडियो देखिए..

Written By:

फिएट पुंटो को उसके मालिक एक मजबूत कार मानते हैं लेकिन फिएट पुंटो यूरो एनसीएपी सिक्योरिटी टेस्ट में बुरी तरह से फेल हो गई है। इस एजेंसी ने हैचबैक का क्रैश टेस्ट किया और परिणाम स्वरुप क्रैश टेस्ट में इसे जीरो नम्बर दिया।

To Follow DriveSpark On Facebook, Click The Like Button
यूरो एनसीएपी क्रैश टेस्ट में बुरी तरह फेल हुई फिएट पुंटो, वीडियो देखिए..

इसके पहले एजेंसी ने सामने वाली ड्यूल एयरबैग का टेस्ट किया और इस फीचर्स की मजबूत दावेदारी के बाद भी यह विफल हो गई। यह खबर एक ऐसे वक्त में आई है जब विभिन्न कम्पनियां फोर व्हीलर उद्योग को सुरक्षित करके एक से बढ़कर एक तकनीक से लैस कारों को डेवलप कर रही हैं। लेकिन पार्टीकूलर फिएट पुंटो की विफलता का कारणों कार का तालमेल नहीं होना था।

यूरो एनसीएपी क्रैश टेस्ट में बुरी तरह फेल हुई फिएट पुंटो, वीडियो देखिए..

दरअसल फिएट ने उस सिक्योरिटी को विशेष रुप से पुंटो पर सेट नहीं किया है जिसकी वजह से यह हैचबैक भारत में पसंद किया जाता है। यूरो एनसीएपी से जुड़े एक अधिकारी मिशेल वैन रेटिंगसेन ने कहा कि जाहिर सी बात है अब पुरानी कारें नई कारों को कम्पटिट नहीं कर सकती है। इस सेक्टर में तकनीक से लेकर क्षमताओं तक में काफी कुछ बदलाव हो रहा है।

उन्होंने कहा कि पुंटों इन सभी मानकों पर खरा नहीं उतर पाई है जो कि परिणाम ने भी स्पष्ट कर दिया है। बता दें कि भारत के साथ ही अन्य देशों में भी बिक्री पर वर्तमान मॉडल है जो कि 2005 में निर्मित मॉडल है। आप क्रैश टेस्ट का वीडियो भी उपर देख सकते हैं।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

वर्तमान पुंटो एक दशक पुरानी कार है और कड़े सिक्योरिटी टेस्ट में इसे कमजोर करार दिया गया। फिएट ने दक्षिण अमेरिकी बाजार में पुंटो की जगह आर्गो लाया है। लेकिन अभी भारतीय मार्केट में कम्पनी ने पुंटो की जगह किसी अन्य कार को लाने का विचार नहीं किया है। भारत की खतरनाक सड़कों पर हाई सिक्योरिटी रेटिंग वाली कारों को ही चलने का मौका दिया जाना चाहिए।

Read more on #फिएट #fiat
English summary
Vouched by many owners as a solidly built car, the Fiat Punto failed miserably at the recent crash test by Euro NCAP safety watchdog.
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos

 

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark