राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

Written By:

देशभर में प्रदुषण की समस्या को देखते हुए राजस्थान के विभिन्न शहरों में भी सीएनजी बसें चलाई जा सकती है। इन शहरों में राजस्थान के जयपुर, जोधपुर, कोटा, बीकानेर और अजमेर शामिल हैं।

इस बारे में राजस्थान के परिवहन एवं सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान ने कहा कि राजस्थान में भी वाहनों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सीएनजी बसें चलाने की जरूरत है।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

उन्होंने कहा कि दिल्ली जैसे प्रदुषण से मुक्ति के लिए प्रदेश के बड़े शहरों में ये बसें चलाई जाएंगी। इससे डीजल की बचत भी होगी और प्रदूषण से भी बचाव होगा। परिवहन मंत्री ने कहा कि युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए राजस्थान बाइक टैक्सी नीति 2017 तैयार की गई है जिससे दस हजार लोगों को रोजगार दिलाने का लक्ष्य है।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में परिवहन सुविधा के लिए तीन साल में 1219 नये मार्ग खोले गये हैं जिन पर 937 परिमट जारी किए गये। सड़क सुरक्षा नीति के बारे में उन्होंने बताया कि शहर में सिन्धी कैम्प पर आने वाली बसों के कारण यातायात जाम रहने की समस्या को दूर करने के लिए हीरापुरा अजमेर रोड पर आधुनिक बस टर्मिनल बनाया जाएगा।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

पहले इसे पीपीपी मोड पर बनाने का प्रयास किया गया लेकिन कोई नहीं आया। अब इसे नब्बे साल की लीज पर निर्माण कराया जाएगा क्योंकि इससे कम समय की लीज पर कोई निवेशक आगे नहीं आ रहा है। उन्होंने आश्वासन दिया कि रोडवेज राजस्थान का गौरव है और इसे किसी भी हाल में बन्द होने नहीं दिया जाएगा। इसका घाटा पूर्ति करने की जिम्मेदारी सरकार की है।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

देश में राजस्थान ऐसा पहला प्रदेश है जहां प्रतिदिन पन्द्रह किलोमीटर नई सडक़ों का निर्माण किया जा रहा है। गत चार सालों में प्रदेश में सडक़ों के निर्माण एवं सुढ़ीकरण पर साढ़े अठारह हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

इससे दूसरे प्रदेशों से आने वाले लोग राजस्थान की सडक़ों की तारीफ करने लगे हैं। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में अब तक नौ नए राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित कर अलवर, झुंझुनूं, हनुमानगढ़, जालौर, बाड़मेर व सवाई माधोपुर जिलों को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ा जा चुका है।

राजस्थान सरकार ने लिया फैसला, अब इन शहरों में भी चलेगी सीएनजी बसें

वर्तमान में तेईस हजार पांच सौ सडक़ों का काम प्रगति पर है और इन पर अस्सी हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। सडक़ों का इतना काम इससे पहले कभी नहीं हुआ। प्रदेश में सात आरओबी और चार आरयूबी का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है जबकि तीस नये स्वीकृत किए गए हैं, इनका काम भी प्रगति पर है।

Recommended Video - Watch Now!
2017 महिन्द्रा स्कार्पियो भारत में हुई लॉन्च
DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

राजस्थान सरकार द्वारा उठाया जा रहा यह कदम वास्तव में सराहनीय है ,लेकिन किसी भी योजना की शुरूआत को तभी मानी जा सकती है। जब वह सुचारू ढ़ंग से शुरू हो गई हो। राजस्थान में सरकार इस योजना पर विचार कर रही है। आगे क्या होगा यह तो वक्त बताएगा।

English summary
These cities include Jaipur, Jodhpur, Kota, Bikaner and Ajmer in Rajasthan. Regarding this, Rajasthan's Transport and Public Works Minister Yunus Khan said that in view of the increasing number of vehicles in Rajasthan, there is a need to run CNG buses.
Story first published: Saturday, December 2, 2017, 15:47 [IST]
 
X

ड्राइवस्पार्क से तुंरत ऑटो अपडेट प्राप्त करें - Hindi Drivespark

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Drivespark sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Drivespark website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more