ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

Written By:

चीन में हाई सल्फर सामग्री वाले डीजल की घरेलू बिक्री को रोक दिया है। चीन में यह प्रतिबंध देश की हवा को साफ करने के अपने नए प्रयासों के तहत किया गया है। चीन ने इस कदम ने शीतकालीन मौसम की शुरुआत में की।

ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

इकोनामिक्स टाइम्स ऑटो की एक रिपोर्ट के मुताबिक दरअसल ठंडिय़ों की शुरूआत के साथ ही चीन में प्रदूषण का लेवल बढता है और ताप के लिए कोयले या हीटिंग का उपयोग किया जाता है। लिहाजा इस दौरान विदेशों से आने वाले हाई सल्फर डीजल की मांग में बढ़ोत्तरी भी हो सकती थी।

ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

इस बारे में एक तेल विश्लेषक ने कहा, इस साल की शुरुआत में इस प्रतिबंध के निष्पादन में चुनौती होगी। अधिक सल्फर के साथ डीजल की बिक्री और ऑटोमोबाइल द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले डीजल पर 10-पीपीएम कैप के साथ इस वर्ष की शुरुआत हो रही है।

ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

कंसल्टेंसी एसआईए एनर्जी के साथ तेल विश्लेषक सेंग-यिक टी ने कहा कि डीलरों और प्रयोक्ताओं को गंदा और सस्ता आपूर्ति पर रोक लगाने का प्रयास किया जाएगा। "यदि आप अधिक या कम सल्फर ईंधन का उत्पादन करते हैं, तो इसका सीधा असर आपकी मार्जिन पर होगा।

ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

जबकि इसके बारे में कुछ व्यापारियों ने कहा कि मछली पकड़ने वाली नौकाओं द्वारा इस्तेमाल किए गए डीजल पर प्रतिबंध को लागू करने में और अधिक मुश्किल होने की संभावना है, इनमें से ज्यादातर छोटे उपभोक्ता 5000-पीपीएम सल्फर युक्त समुद्री गैसोल का उपयोग करते हैं।

Recommended Video
Jeep Compass Price
ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

बदलते ईंधन की गुणवत्ता से निपटने के लिए, रिफाइनरियों ने कम सल्फर वाले कच्चे तेल के आयात को बढ़ाया है, इसका कारण यह है कि रूसी ग्रेड के चीन में शिपमेंट सितंबर में रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया, जिसकी वृद्धि दर सालाना 60 प्रतिशत थी।

ट्रैक्टर में यूज होने वाला हाई-सल्फर युक्त डीजल इस देश में हुआ बैन, जानिए क्यों?

चीन के राष्ट्रीय विकास एवं सुधार आयोग ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि यह उन तेल उत्पादों के उत्पादन और वितरण को कम करेगा जो सरकारी मानकों को पूरा नहीं करते और प्रमुख रिफाइनर और ग्रामीण गैस स्टेशनों की निगरानी में वृद्धि करते हैं।

DriveSpark की राय

DriveSpark की राय

चीन ने प्रदुषण के स्तर को घटाने के लिए एक और प्रयास किया है। हालांकि यह कितना प्रभावी होगा यह तो आने वाला वक्त ही बता सकता है। ऐसा भारत में करब संभव होगा फिलहाल जाहिर तौर पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है।

English summary
The move, announced just ahead of the winter season when pollution levels spike as more coal is used for heating purposes, could prompt oil companies in the country to ship overseas surplus higher-sulphur diesel in the coming months.
Please Wait while comments are loading...

Latest Photos