सेलरी विवाद में एक बार फिर फंसी Tata Motors की Nano

Written by: Deepakkumar

टाटा मोटर्स के साणंद नैनो संयंत्र में नैनो का उत्पादन एक बार फिर मुसीबतों में फंसता दिख रहा है। खबरों के मुताबिक साणंद प्लांट में लगभग 200 मजदूरी ने घर लौटने के लिए कम्पनी के परिवहन सुविधा का बहिष्कार कर दिया है। खबरों के मुताबिक स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा है।

सूत्रों का कहना है कि कम्पनी के अधिकारियों ने उनकी वेतन वृद्धि की सिफारिश को अवाइड कर दिया। इसलिए कर्मचारियों ने कम्पनी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है स्थिति दोपहर में तब बिगड़ गई, जब कर्मचारियों ने अपने घर को जाने के लिए कम्पनी की बस को लेने से मना दिया।

इस संदर्भ में कम्पनी के कामगार संघ के अध्यक्ष हितेश रबारी का कहना है कि जब उन्होंने अपनी मांग रखते हुए कम्पनी के मुख्य द्वार पर गए, तब कम्पनी के अधिकारियों ने पुलिस को बुला लिया और सड़क पर से हटने को कहा गया। उन्होंने कहा कि हमारी मांग कम्पनी से वेतन वृद्धि की थी, लेकिन पुलिस ने हमारे कुछ कामगारों को थप्पड़ मारने का कार्य किया।

इस बारे में कम्पनी सुत्रों का कहना है कि साणंद प्लांट में टाटा मोटर्स प्रबंधन ने दो कर्मचारियों को काम न करने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया तो उन्होंने यह विवाद खड़ा कर दिया और उन्होंने कम्पनी की बस लेने से इंकार कर दिया।

हालांकि इस मामले में कम्पनी के किसी भी अधिकारी ने अधिकारिक रुप से कुछ भी कहने से मना कर दिया है। इस क्षेत्र में पुलिस ने एक बार फिर धारा 144 लगा दिया है।

Click to compare, buy, and renew Car Insurance online

Buy InsuranceBuy Now

Read more on #off beat
English summary
The Sanand facility where the Tata Nano is being manufactures is facing trouble with labours again, after employees walked out.
Please Wait while comments are loading...
विधवा से पहले किया इश्क, फिर हुआ शक तो दी बेरहम मौत
विधवा से पहले किया इश्क, फिर हुआ शक तो दी बेरहम मौत
 सचिनः अ बिलियन ड्रीम्स प्रीमियर: सबकी नजर तेंदुलकर पर और तेंदुलकर की नजर बेटी सारा पर, क्यों?
सचिनः अ बिलियन ड्रीम्स प्रीमियर: सबकी नजर तेंदुलकर पर और तेंदुलकर की नजर बेटी सारा पर, क्यों?

Latest Photos