यदि आप ह्युंडई कार के मालिक है तो हो जाइये सतर्क

Written by:
 

जी हां देश की दूसरी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी ह्युंडई की कारों की संख्‍या देश भर में काफी ज्‍यादा है। मारूति सुजुकी के बाद देश में दूसरी सबसे ज्‍यादा बेची जाने वाली कारें ह्युंडई की ही होती है। देश भर में इस कोरियन कंपनी को काफी पसंद किया जा रहा है। लेकिन यदि आप ह्युंडई कंपनी की किसी कार के मालिक है तो आपका सतर्क हो जाना जरूरी है।

यदि आप अब अपनी कार को सर्विसिंग के लिए ह्युंडई सेंटर पर भेजेंगे तो आपको कार ठीक समय पर वापस मिलने में थोड़ी देर हो सकती है। क्‍योंकि ह्युंडई की सिस्‍टर कन्‍सर्न कंपनी मोबी के चेन्‍नई स्थित संयंत्र में कर्मचारियों के बीच यूनियन को ले‍कर विवाद शुरू हो गया है। जिसके कारण कर्मचारियों ने काम-काज ठप्‍प कर दिया है। आपको बता दें कि मोबी कंपनी ह्युंडई की ही देख रेख में संचालित की जाती है।

इसके अलावा मोबी ही देश की इकलौती ऐसी कंपनी है जो कि ह्युंडई को उसके कारों के स्‍पेयर पार्ट्स मुहैया कराती है। अब चूकिं संयंत्र में उत्‍पादन कार्य बंद है तो स्‍पेयर पार्ट्स की डीलीवरी भी बुरी तरह प्रभावित हो गई है। गौरतलब हो कि मोबी के कुछ कॉन्‍ट्रेक्‍स बेस पर काम कर रहे कर्मचारियों ने अन्‍ना थोज्‍हीर संगम नाम के यूनियन को ज्‍वाइन कर लिया है। जिसके कारण नाराज होकर मोबी ने अपने उन सभी कर्मचारियों को बर्खास्‍त कर दिया है।

इतना कुछ होने के बाद देश भर के ह्युंडई के डीलरों ने कंपनी को स्‍पेयर पार्ट्स के स्‍टॉक के खत्‍म होने की शिकायत करनी शुरू कर दी है। वहीं संयंत्र में अब उतने कर्मचारी काम पर नहीं है कि कंपनी मांग के अनुसार स्‍पेयर पार्ट्स का उत्‍पादन कर सके और ग्राहकों की जरूरत को पूरा कर सके। फिलहाल देश भर के ह्युंडई के सर्विस सेंटर पर स्‍पेयर पार्ट्स की कमी के बादल मंडरा रहे है। तो यदि आप भी अपनी ह्युंडई कार को सर्विसिंग आदि के लिए देते है तो हो सकता है कि स्‍पेयर पार्ट्स की कमी के कारण आपको आपकी कार समय पर वापस न मिल सके।

English summary
Hyundai car owners who have sent your cars for repairs and service watch out. You will have to wait for a pretty long time to get your car back. Hyundai's service stations will not be able to deliver your car on time as there is a severe crunch in spares supply.
Share Your Comments

Please read our comments policy before posting